कानूनी अधिकार

क्या गर्भपात कराना महिला का कानूनी अधिकार होता है ?

जब भी हम लोगों के समक्ष ऐसे टॉपिक आते है तो अक्सर दिमाग में आता है कि गर्भपात कराना महिला का कानूनी अधिकार होता है ? हर वर्ष लगभग 75 लाख महिलाओं को अवांछित गर्भावस्था होती है। इन गर्भधारण का असर एक महिला के आर्थिक संसाधनों, उसके पारिवारिक संबंध, उसके स्वास्थ्य, और चिकित्सा देखभाल की उपलब्धता जैसी चीजों पर बेहद निर्भर करतीं है।

कानूनी गर्भपात का अर्थ, एक महिला को एक व्यक्ति के रूप में पहचाना जाता है। स्पष्ट रूप से, इसका अर्थ यह होता है अगर एक महिला बलात्कार होने की बजह से गर्भवती हो जाती है तो उस महिला के पास एक सुरक्षित मार्ग होता है। महिलाओं को अधिकार होना चाहिए उनके प्रजनन जीवन पर।

अधिकांश महिलाएं गुप्त रूप से उन देशों में गर्भपात करना चाहती हैं, जहां गर्भपात कानूनी रूप से प्रतिबंधित है। गर्भपात की प्रक्रिया उस महिला के जीवन के लिए खतरा हुए चिकित्सकीय रूप से असुरक्षित होता है। गुप्त रूप से गर्भपात कारण के कारण लगभग ५० से ६० हजार महिलाओं की सालाना मौत हो जाती है। यह इनके मौत का जिम्मेदार होता है।

जबकि स्वास्थ्य का अधिकार सभी महिलाओं के लिए अच्छे स्वास्थ्य का वचन नहीं देता है, यह समझा गया है कि सरकार को अच्छे स्वास्थ्य की संतुष्टि के लिए और स्वास्थ्य देखभाल देने के लिए उसके अनुकूल परिस्थितियों को बनाने के लिए कार्य करने की आवश्यक है।

महिला को अपने शरीर पर पूरा अधिकार होता है। जब गर्भावस्था बिन चाहे होती है, तो इसका असर एक महिला के भावनात्मक और शारीरिक कल्याण पर बहुत भारी पड़ता है। कोई भी निर्णय व्यक्ति की प्रजनन क्षमता के लिए करता है, जब अलग-अलग निर्णय लेने होतें है तो बिल्कुल झूठ बोलता है।

सरकार की किसी भी प्रकार की भूमिका नहीं होनी चाहिए, गर्भवती महिलाओं के लिए निर्णय लेने की। क्युकि यह केवल वही मिहला जान सकती है की वह बच्चे ले लिए उससमय तैयार है या नहीं। कुछ महिलाओं को प्रसूति संबंधी कुछ शिकायतें होती हैं, जैसे कि अत्यधिक श्रम और रक्तस्राव। उस स्थति में महिलाओं के स्वास्थ्य जोखिम में होता हैं जो पुरुषों कभी अनुभव भी नही कर सकतें है।

असुरक्षित गर्भपात के कारण जिन महिलाओं की मृत्यु हो जाती है यही मुश्किल महिलाओं के खिलाफ भेदभाव का प्रमाण होती है। जब किसी महिला का यौन शोषण होती है ओके वहज से गर्भावस्था होती हैं, तो अनुभवी नुकसान तेजी से खराब हो सकता है; खाश तौर से, जिन देशों में कानूनी गर्भपात कराने पर प्रतिबंध होता है, वह ऐसी महिलाओं को अपने गर्भावस्था को समाप्त करने और असुरक्षित गर्भपात से गुजरने के बीच जैसे भयानक विकल्पों के साथ छोड़ दिया जाता है।

सामाजिक-आर्थिक आधार और महिला के जीवन के आधार पर उस महिला पर खतरा होने पर गर्भपात का लाइसेंस देने वाले देश संभवतः बलात्कार के परिणामस्वरूप गर्भावस्था होने पर उनका गर्भपात कराने के लिए कुछ कानून बना सकते हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने स्पष्ट कहा है कि महिलाओं के बलात्कार के कारण जो महिलायीं गर्भवती हो जाती है उन महिलाओं को सुरक्षित गर्भपात सेवाओं तक पहुंचाया जाना चाहिए। यदि जो देश कानून व्यभिचार की कनूनी रूप से अनुमति देता है तो गर्भपात में क्या गलत होता है।

Please follow and like us:
Need help? Call us: +91-9555-48-3332
Anshika Katiyar
WRITTEN BY

Anshika Katiyar

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *