तलाक

भारत में तलाक के दौरान पति के पास क्या अधिकार होतें हैं?

भारत में तलाक की प्रक्रिया से गुजरने पर भी पति के पास कुछ अधिकार होते हैं। इससे पहले, एक पत्नी के पास अपने अधिकारों की रक्षा के लिए कानूनों के साथ-साथ अधिक अधिकार थे और जब ऐसे मामले वास्तविक थे। वर्तमान में, ऐसे वास्तविक मामले हैं जहां एक पत्नी के…
तलाक

भारत में आपसी सहमति से आप कैसे आसानी से तलाक ले सकतें है ?

आपसी सहमति से तलाक कानूनी रूप से विवाह को भंग करने का सबसे सरल तरीका है। आपसी सहमति है, जहां दोनों पति-पत्नी एक-दूसरे से शांतिपूर्वक भाग लेने के लिए सहमत हैं। तलाक में यह अनिवार्य है कि दोनों पक्ष विवाह विघटन के लिए सहमत हों। यदि एक पति या पत्नी…
तलाक

पति पत्नी के बीच तलाक होने के बहुत सामान्य से कारण पर प्रकाश.

तलाक देने के क्या कारण हो सकते है ? यह एक सरल और सामान्य प्रश्न है ? इस ब्लॉग में हम आपको ये बातएंगे कि विवाह क्यों असफल होते है ? तलाक के कारण अलग-अलग होते हैं हर शादी के लिए । अगर आपको लगता है कि आपको अपनी शादी…
तलाक

तलाक के बिना भी क्या पत्नी अपने पति से रखरखाव का दावा कर सकती है ?

तलाक के बिना भी क्या पत्नी अपने पति से रखरखाव का दावा कर सकती है ? रखरखाव वित्तीय के संदर्भ में दिया गया समर्थन है, पत्नी के पास अलग होने या तलाक के बाद भी बुनियादी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए कोई समाधान नहीं है तो पत्नी रखरखाव की…
घरेलू हिंसा

AAPKA ADVOCATE की मदद से घरेलू हिंसा तलाक प्राप्त करें

घरेलू हिंसा का उदय भारत में, घरेलू हिंसा का मामला बहुत ही गंभीर और विचारणीय समस्या है। अक्सर यह देखा जाता है कि पत्नी को शारीरिक रूप से प्रताड़ित और परेशान किया जाता है और यहां तक ​​कि यौन शोषण भी किया जाता है। इस तरह के जघन्य अपराध ग्रामीण…
तलाक

आज के समय तलाक के लिए अपसरण एक बहुत बड़ा कारण है .

आम आदमी के शब्दों में अपसरण का मतलब केवल भाग जाना है। तलाक के लिए अपसरण एक बहुत बड़ा कारण है. अपसरण का अर्थ किसी स्थान से हटना नहीं बल्कि चीजों की स्थिति से हटना है। यह इसका शाब्दिक अर्थ है। यह विवाह के सभी दायित्वों में से एक है।…
कोर्ट मैरिज

कोर्ट मैरिज – पैसा ही सब कुछ नही होता है, रिश्ते भी जरूरी होते है

संडे का दिन था, इसलिए सुबह सुबह कोई हड़बड़ी नहीं थी. सात बज चुके थे और सब बस सो कर ही उठे थे. अखबार वाला भी संडे को देर से ही आता था. सबको चाय का प्याला थमा कर सुकून से वह बालकनी में अपनी चाय ले कर बैठी ही…
घरेलू हिंसा

घरेलू हिंसा – रिया की कहानी कुछ यादें जो कभी फीकी नहीं पड़ीं.

रिया एक दयालु, संवेदनशील और आकर्षक लड़की थी। वह अपने परिवार से बहुत प्यार करती थी। उसके माता-पिता उसका बहुत ख्याल रखते थे। और उसको हमेशा करियर के प्रति प्रोत्साहित करते थे। उसने एक प्रतिष्ठित संस्थान से बायोटेक्नोलॉजी में ग्रेजुएशन किया था। उसने लेक्चरर के रूप में काम किया था…
घरेलू हिंसा

घरेलू हिंसा – एक कहानी बेटी के जीवन का साहसपूर्ण संघर्ष की.

एक गरीब माता-पिता के 3 बच्चे थे। अब, यहाँ हम तीसरे बच्चे के बारे में बात कर रहे है। अपने बचपन के दौरान उसको इतना लाड़ प्यार नही मिला था, क्योंकि वह बिल्कुल सुन्दर नही थी। उसे 3 बच्चों के बीच कम महत्व दिया गया था। उसे एक सरकारी स्कूल…
तलाक

तलाक – कुछ अपने रिश्ते जो मैं बहुत पीछे छोड़ कर आई हूँ .

अल्का शाम को किचन में चाय बना रही थी। दिसंबर में कुछ इस बार ठंड भी ज्यादा पड़ी थी। वह अपने बड़े से किचन में शाम के खाने की तैयारी कर रही थी और सास ससुर के लिए चाय बना रही थी। मन ही मन सोचती है कि ऐसे घर…